छेड़छाड़ केस की सुनवाई के दौरान ‘रोहतक सिस्टर्स’ ने किया था ये चौंकाने वाला कारनामा

0
10

Sisters Pooja and Aarti from Rohtak


चलती बस में छेड़छाड़ केस की सुनवाई की दौरान ‘रोहतक सिस्टर्स’ ने एक बड़ा कारनामा किया था, जिसके बारे में जानकर पुलिस भी हैरान रह गई थी। दरअसल, आसन गांव के तीन युवकों पर बस में छेड़छाड़ और मारपीट का आरोप लगाने वाली दोनों सगी बहनों ने खुद को शादीशुदा बताया था, जबकि उनकी शादी नहीं हुई है। ऐसा उन्होंने खरखौदा के राजकीय कॉलेज से आईसी कॉलेज रोहतक में माइग्रेशन कराने के लिए किया है।

अपनी शादी साबित करने के लिए दोनों बहनों ने यूनिवर्सिटी में अपनी शादी का कार्ड आवेदन के साथ जमा कराया है। इसका खुलासा यूनिवर्सिटी से आरटीआई के तहत मिली जानकारी में हुआ है। बस में तीनों युवकों पर छेड़छाड़ और मारपीट का आरोप लगाने वाली दोनों बहनें खरखौदा के राजकीय कॉलेज में पढ़ती थीं। सूत्रों की माने तो वहां दोनों बहनों का व्यवहार सही नहीं था, जिस कारण कॉलेज प्रशासन का रवैया इनके प्रति सख्त हो गया था।


इसलिए दोनों बहनों ने अपना माइग्रेशन रोहतक आईसी कॉलेज में करने के लिए यूनिवर्सिटी में अप्लाई किया। एप्लीकेशन के साथ उन्होंने अपनी शादी का कार्ड लगाया, जिसमें दोनों की शादी रोहतक के प्रेमनगर निवासी दीपक और प्रवीण के साथ पांच फरवरी, 2014 को हुई दिखाई गई है। जबकि उनकी शादी नहीं हुई है। एडवोकेट प्रदीप मलिक ने बताया कि इसकी सूचना मिलने पर उन्होंने यूनिवर्सिटी में एक आरटीआई लगाई थी, जिससे मिली जानकारी से यह बात साबित हुई है।